Tag Archives: हिन्दी

तुम मुझे भूल भी जाओ तो ये हक़ हैं तुमको मेरी बात और हैं मैंने तो मोहोब्बत की हैं – साहिर लुधियानवी


तुम मुझे भूल भी जाओ तो ये हक़ हैं तुमको मेरी बात और हैं मैंने तो मोहोब्बत की हैं मेरे दिल की मेरे जज़बात की कीमत क्या हैं उलझे उलझे से खयालात की कीमत क्या हैं मैंने क्यों प्यार किया … Continue reading

Posted in Audio, मूकेश, साहिर लुधियानवी, सुधा मल्होत्रा, सुधा मल्होत्रा, हिन्दी | Tagged , , , , | 2 ટિપ્પણીઓ

वो मेरा था ये बताना अजीब लगता है


[audio https://dl.dropboxusercontent.com/u/9342368/anup_jalota_woh_mera_tha.mp3] वो मेरा था ये बताना अजीब लगता है अब उससे आँख मिलाना अजीब लगता है जो ज़िन्दगी में कभी मेरा हो न पाया अब उसका ख़्वाब में आना अजीब लगता है बड़े ख़ुलूस से दावत तो उसने भेझी है … Continue reading

Posted in Audio, हिन्दी, અન્ય | Tagged , , , , , , | Leave a comment

कुछ दिल ने कहा…


कुछ दिल ने कहा, कुछ भी नहीं… ऐसी भी बातें होती हैं, कुछ दिल ने कहा, कुछ भी नहीं… लेता है दिल अंगड़ाइयां, इस दिल को समझाये कोई अरमान ना आँखें खोल दें, रुसवा ना हो जाये कोई पलकों की … Continue reading

Posted in Audio, कैफी आजमी, लता मंगेशकर, हिन्दी, हेमंतकुमार | Tagged , , , , , , | Leave a comment

चली गोरी पी से मिलन को चली…..


चली गोरी पी से मिलन को चली चली गोरी पी से मिलन को चली नैना बावरिया मान में संवरिया चली गोरी पी से मिलन को चली चली गोरी पी से मिलन को चली नैना बावरिया मान में संवरिया चली गोरी … Continue reading

Posted in Audio, मझरूह सुलतानपूरी, हिन्दी, हेमंतकुमार, हेमंतकुमार | Tagged , , , , , , , | 2 ટિપ્પણીઓ

खुबसुरत है आँखे तेरी – तलत अजीज


चाँद चेहरा हिजाब आँखे है, कितनी लाजवाब आँखे है, हर अदा है ह्सीन लेकिन, जानलेवा जनाब आँखे है | खुबसूरत है आँखे तेरी रातको जागना छोड दे, खुद-ब-खुद नीद आ जायेगी तु मुझे सोचना छोड दे | खुबसूरत है आँखे … Continue reading

Posted in Audio, तलत अजीज, नुसरत बदर, हिन्दी | Tagged , , , , , | Leave a comment

आ कि तेरा ईंतेज़ार है…..


आ कि तेरा ईंतेज़ार है बहार आई है और फूलोंमे सांसो को दोसीज़गी छीडक रही है। आ कि बुलबुल नगमाँ ख्वाब है और कलीयों के नन्हे दिल धडक रहे है। आ कि, सूरज़ने तेरी कामत के लीए किरनोकी सुनहरी महेराँबे … Continue reading

Posted in हिन्दी | Tagged , , , | Leave a comment

मीठे बोल बोले …


मीठे बोल बोले, बोले पायलिया छूम-छनन बोले, झनक-झन बोले मीठे बोल बोले … पग पग नाचे रे, घुंघरु की दासी इक पग राधा जैसी, इक पग मीरा जैसी सांवरे की बोली बोले पायलिया बोले मीठे बोल बोले … नैनों की … Continue reading

Posted in गुलज्ञार, भूपिन्दर सिंघ, लता मंगेशकर, हिन्दी, R.D.Burman | Tagged , , , , , , | Leave a comment